नमक स्वादानुसार (Book Review)

​'मौत बेशक़ जिंदगी से कहीं ज्यादा हसीन होती है। कभी टोपाज के ब्लेड को अपनी कलाई पर रख कर देखना। ऐसा लगता है जैसे शीरी से मिलने फ़रहाद आ गया हो।' - निखिल सचान निखिल सचान दिल खोल के लिखने वाले इंसान हैं। नमक स्वादानुसार इनकी पहली किताब है। यह एक कहानी संग्रह है। इसके … Continue reading नमक स्वादानुसार (Book Review)

Demons In My Mind – When Mind Becomes Your Biggest Enemy (Book Review)

​"Our minds are what create illusions of faith to achieve their purpose. If God is considered to be one of the many forms of faith, then a controlled mind will create God to unite people and extend peace. A helpless mind will create God in times of sorrow and loneliness. An uncontrolled mind will kill … Continue reading Demons In My Mind – When Mind Becomes Your Biggest Enemy (Book Review)

Jim Morgan and the Seven Sins (Book Review)

​A quest to identify seven deadly sins  A mystery behind seven keys that were passed to seven men  A deadly race against time to seek atonement  Blurb: On the outskirts of New York City, Jim Morgan, an international bestselling author learns through God that he had committed seven sins in his previous life. Clues lie … Continue reading Jim Morgan and the Seven Sins (Book Review)

वो अजीब लड़की (Book Review)

​कुछ किताबें ऐसी होती हैं जो धीरे-धीरे लोगों के बीच एक दूसरे के माध्यम से पहुँचती है लेकिन ये किताबें अपनी रचना से लोगों पर एक अमिट छाप छोड़ते हुए सबके बीच अपनी एक पहचान बना लेती है। कुछ खूबियों और कमियों के बीच ये पाठकों के दिल में बस जाती हैं। ऐसी ही एक … Continue reading वो अजीब लड़की (Book Review)